हम बात करेंगे कि चाइना में कैसे फैला डेंजरस कोरोना वायरस जिसका खतरा इंडिया, अमेरिका और सऊदी अरब तक पहुंच गया है चीन में पहले करोना वायरस को लेकर भारत पर भी सतर्कता बढ़ती जाने लगी है देश की राजधानी दिल्ली समेत मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरु, हैदराबाद और कोलकाता हवाई अड्डों पर थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था की गई है चीन और हांगकांग से लौटे यात्रियों के थर्मल जांच की जाएगी यात्रियों को विमान में चढ़ने से पहले सेल्फ रिपोटिंग फॉर्म भरना होगा विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी इस संदर्भ में आपात बैठक बुलाई इस बैठक में डब्ल्यूएचओ यह तय करेगा कि कोरोनावायरस से फैल रही बीमारी को क्या अंतर राष्ट्रीय स्वास्थ्य आपातकाल घोषित करने की जरूरत है या नहीं।

अमेरिका में भी वायरस के संक्रमण का एक मामला सामने आया है स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि यह शख्स चीन के वुहान से अमेरिका आया है यह नया कोरोनावायरस दिसंबर महीने में सबसे पहले पकड़ में आया था लेकिन अब यह चीन की सीमा को पार करके दूसरे देशों में भी पहुंच चुका है दोस्तों करो ना अभी तक लोगों ने यह नाम सिर्फ बियर के एक ब्रांड सॉफ्टवेयर या सूरज के प्लाज्मा के तौर पर सुना था लेकिन अब करोना एक भारत के तौर पर चर्चा में है वायरस जो चीन से शुरू होकर दुनिया के कई देशों में फैल रहा है सरकारी अलर्ट पर हैं लोगों की जांच हो रही है जोर से सौर से इलाज खोजा जा रहा है क्या है पूरा मामला आइए जानते हैं।

कहाँ से फैलना शुरू हुआ कोरोना वायरस ?

कोरोना वायरस इंसानों में पहुंचने पर अभी पुख्ता तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता लेकिन इसे लेकर अलग-अलग दावे जरूर किए जा रहे हैं इंटरनेशनल मीडिया रिपोर्ट ने दावा किया है कि 2019 के आखिरी महीने में चीन के गुहान शहर से नॉनवेज मार्केट से करोना वायरस पैदा हुआ आकलन के मुताबिक यहां बेचे गए जंगली जानवरों के शरीर में वायरस था जो नॉनवेज खाने वालों तक पहुंच गया वहीं शुरुआती रिसर्च पर माना गया कि वायरस सांपों के जरिए इंसानों में पहला है दूसरी ओर से चीन के सरकारी चिकित्सा सलाहकार जॉन अनशन बिच्छू और चूहों के जरिए वायरस फैलने की आशंका जताई इसके बाद चीन के वैज्ञानिकों के लेटेस्ट रिसर्च में पाया की ये वायरस चमगादड़ से सांपों इंसानों में फैला है।

चीन की राजधानी बीजिंग जनरल ऑफ मेडिकल बायोलॉजी में पब्लिश हुई वैज्ञानिकों की स्ट्डी में कहा गया कि कोरोनावायरस सांपों से इंसानों में पहुंचा रिसर्च में पता चला कि कोरोनावायरस एक पैथोजन है पैथोजन एक तरह का इन्फेक्शन एजेंट होता है जो बीमारियां फैलता करता है आम भाषा में आप इसे कीटाणुओं के तौर पर भी समझ सकते हैं।

आज चीन समेत दुनिया के कई देश कोरोना के खोप में हैं अभी इसका इलाज खोजा नहीं जा सका है चीन में कोरोना के इलाज में HIB की दवाइयां भी इस्तमाल हो रही है World health organisation ने कहा है की बहुत कलोज रहने और एक दूसरे से चीजे शेयर से इसके फैलने की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता चीन कह रहा है की ये वाइरस Human to human transfer होता है।

भारत में अभी तक कोरोना का कोई मरीज नहीं मिला है लेकिन कई संदिग्ध लोगो को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है इनमे से ज्यादतर वही लोग है जो हाल ही मई चीन से यात्रा कर के लौटे है ऐसे मे एहतियात के तौर पर हम आपको बता रहे हैं की यात्रा के दौरान कोरोना से बचने के लिए आप क्या क्या कर सकते हैं।

1. कोरोना के बारे ये जरूर साफ है की ये C फुट से जुड़ा है वैज्ञानिकों ने ये भी कह है की आम तौर पर जानवरो में पाया जाना वाला वाइरस है जा नॉनवेज के जरिये इंसानों तक पहुंच गया है।

2. जितना मुमकिन हो किसी भी देश की यत्रा के दौरान नॉनवेज खाने से बचे कच्चा या अधपका मीठ तो बिलकुल भी न खाये।

3. यात्रा के दौरान बीमार लोगे से सम्पर्क न बढ़ाये अगर किसी को जुखाम, खासी, बुखार या नाक बहने जैसे दिक्ते हैं तो यैसे यात्रियों से दुरी बना कर रखे।

4. ठंढ और बुखार जैसे बीमारियों से जूझ रहे लोग सतकर्ता बरते यात्रा करने से बचे अपना चेकअप इलाज करवाए अगर यत्रा करनी ही पड़े तो लगातार माक्स लगाए रखे और खाने पिने से जुडी सावधानिया जरूर बरते।

5. जो लोग खाश तौर पर चीन चीन की यात्रा पर जा रहे हैं उनके लिए कुछ भी छूने या यूज करने के बाद साबुन से हाथ धोना जरुरी है सहयात्रियों के साथ खाना पीना शेयर न करे खासते छीकते समय मुँह पर रुमाल जरूर रखे Hand Sanitizer का इस्तमाल करते रहें।

6. अगर इस बीच आप भी दूसरे देश की यात्रा पर जा रहें हैं तो वहां के बारे मे जरुरी बाते इंटरनेट या फ़ोन कॉल के जरिये जरूर हाशिल कर ले।

7. ऐसा डिब्बा बंद खाना खाना खाने से बचे जिसमे मीठ या सी फुट इस्तमाल किया गया हों बेहतर होगा अगर आप यत्रा के दौरान ड्राईफ फुट और सेप फ्रूट अपने साथ रखे जरुरत पड़ने पर बाहरी खानों के बजाये यही खाये।

8. यात्रा पर जाने से पहले पूरी नींद ले और खाली पेट बहार ना निकले अगर यात्रा के दौरान आपको सर्दी, गले में दर्द, खासी और नाक बहने जैसी दिक्तें होने लगे तो तुरंत स्टाप को सूचित करे।

अगर आपका कोई परिचित चीन में है तो उसे भारत सरकार द्वारा जारी की गई हेल्पलाइनस के बारे में जरूर बतलाइये

Helpline Number +8618612083629,  +86186112083617, +86186110952903

कोरोना वायरस के लक्छणों और बचाव के बारे आपको यह हमारी पोस्ट कैसा लगा साथ ही साथ अगर आपके भी मन में इस से जुड़ी कुछ जानकारिया या सवाल है तो आप हमें नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में जरूर बताये

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here